Messages On Kanhaiya And Patriotism In India

अफवाह की भी हद होती है..,
.
अब लोग बोल रहे हैं
होली में प्रह्लाद की जगह कनहैया को बिठायेंगे..,
.
देश भक्त हुआ तो बच जायेगा।

***********************

कैसा देशप्रेम ?
.
मैच न हो गया मानो भारत-पाक की जंग हो रही हो | मैच मे जीत के लिये कहीं पूजा हो रही है तो कहीं मजार मे चादर चढाई जा रही है | काशी मे जगह जगह हवन किये जा रहे हैं | कुछ लोग गंगा जी मे कमर तक डूब कर हाथ मे तिरंगा लिये खडे हैं भारत की जीत के लिए | युवा फ़ैन्स को तो मानो देशप्रेम के दौरे पड रहे हों | “ इंडिया, इंडिया “ के नारे सुन कर बेचारे शाहीद अफ़रीदी का कान्फ़ीडेंस कम होता जा रहा है | यानी देशप्रेम उमड उमड कर बरस रहा है |

लेकिन समझ मे नही आता कि जब जे एन यू मे चंद बिगडेल लडके देश के सम्मान का चीर हरण कर रहे थे और इसी पाकिस्तान के लिए जिंदाबाद के नारे लगा रहे थे तब यह देशप्रेम कहां दुबक कर बैठ गया था | आज मैच को लेकर जो देशप्रेमी युवा बौराये घूम रहे हैं इनमे से अगर दो चार हजार भी उस दिन जे एन यू गेट पर आकर “ भारत माता की जय “ के नारे लगा देते तो कन्हैया और उमर खालिद जैसे लोग छिपने के लिए जगह तलाशने लगते | लेकिन तब इन देशप्रेमियों को शायद साप सूंघ गया | वाह रे देशप्रेमियों | सिर्फ़ भारत-पाक मैच मे ही देशप्रेम उमडता है | बाकी इस देश को कोई गाली देता रहे कोई फ़र्क नही पडता |

how indians behave before india pak match, whatsapp message on patriotism, are indians really patriotic

 

Messages On Kanhaiya And Patriotism In India
Rate this post