Nepali Wanting To Learn Shayari

एक नेपाली ने गुलजार साहब के पाँव पकड़
लिए और गुजारिश करने लगा
” दादा होम भी शायरी सिखेगा”
.
काफी मान मनौवत के बाद गुलजार साहब
मान गए और बोले –
जैसा मै बोलूँ तुम वैसा ही बोलना।
.
नेपाली :- ठीक है।
.
गुलजार साहब :-
“ना गिला करुँगा, ना शिकवा करुँगा…..
तू सलामत रहे इस दुनिया में, रब से
यही दुआ करुँगा।”
.
नेपाली ने दोहराया:-
“ना गीला कोरेगा, ना सूखा कोरेगा …..
तुम साला, मत रहो इस दुनिया में, रोब से
येही दुआ कोरेगा।”
गुलज़ार साहब बेहोश…
😜😜😜😜😜😜😜😜😜

gulzaar sahab shayari, nepali shayari enthusiast, na gila karega na shikwa karega

Nepali Wanting To Learn Shayari
Rate this post